बालों के झड़ने का कारण और उपचार – (Causes and Solutions for Hair Loss in Hindi)

हर व्यक्ति घने काले बालो कि चाहत रखता है। कोई नहीं चाहता कि बालो का असमय झड़ना (Hair loss) कि वजह से वह 25 साल कि उम्र में 40 साल का दिखाई दे। कम उम्र में सिर के बालो का गिरना (hair loss) होना बहुत tension देने वाली problem है।  वर्तमान समय में यह समस्या युवाओं में बहुत तेजी से बढ़ रही है। पुरुषों और महिलाओं दोनों में बाल गिरना आम है। बाल गिरने आज हम सबसे आम समस्याओं में से एक है। चाहे महिला हो या पुरुष हर कोई आजकल बालों को झड़ने से रोकने के तरीके खोज रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि बालों के झड़ने के और कारण क्या हैं ? आखिर किस चीज की कमी से बाल झड़ते हैं?

बालो के टूटने और झड़ने का कारण 

तेज और भाग-दौड़ भरी जिंदगी में लोग खुद पर ध्यान देने में इतना वक्त नहीं लगाते जितना वो टेंशन और स्ट्रेस में गुजारते हैं और इसका सीधा असर उनकी हेल्थ के अलावा बालों पर भी पड़ता है। बालों की growth के लिए उन्हें जरूरी पोषण चाहिए जो उन्हें नहीं मिलता और इस वजह से कुछ वक्त बाद वो झड़ना शुरू हो जाते हैं। बालों का सीधा संबंध पेट से होता है। यदि पाचन तंत्र और हाजमा ठीक नहीं है तो, बाल टूटने व झडऩे लगते हैं।  तो कभी किसी लंबी बीमारी के चल रहे इलाज के कारण बाल गिरने का प्रमुख कारण है। रक्त संचार में कमी होने से भी बाल गिरने लगते हैं । डायबिटीज पीडि़त व्यक्तियों के भी बाल जल्दी ही झड़ने लगते हैं।  बालों की ठीक तरह से देखभाल ना करना, साफ-सफाई ना रखना, रूसी की समस्या होना, बालों को बहुत अधिक ड्राई होने से भी बाल गिरने लगते है।

बालो के टूटने और झड़ने का इलाज

  1. नारियल का तेल :- झड़ते बालों को रोकने के लिए नारियल तेल का प्रयोग किया जा सकता है। नारियल तेल बालों में नमी के साथ बालों का विकास भी बढ़ाता है। नारियल का तेल में आपके बालों से जुड़ी हर समस्या का समाधान करने की क्षमता है फ़िर चाहे रूसी हो या बालों का झड़ना हो ।
  2. मेंहदी :- प्राचीन समय से मेहन्दी बालों की सुन्दरता बढ़ाती रही है।  मेंहदी ना सिर्फ बालों को झड़ने से रोकती है बल्कि बालों को चमक भी देती है और सुन्दर बनाती है।
  3. दही :- दही में मौजूद प्राकृतिक तत्वों की मदद से बालों को पोषण प्रदान करता है, जिससे आपके बाल स्वस्थ और घने बनते हैं। दही में एंटी-ऑक्सीडेंट और ज़रूरी जीवाणु होते हैं जो बालो की जड़ों और सिर की त्वचा में मौजूद गन्दगी से लड़ते हैं
  4. आँवला :- आंवला एकमात्र ऐसी औषधि है जिसका इस्तेमाल आयुर्वेद में अधिकतर किया जाता है। आंवला ना सिर्फ बालों का झड़ना रोकता है बल्कि बालों को घना और लंबा बनाता हैं। आंवला बालों को प्राकृतिक सुन्दरता प्रदान करता है।
  5. आंवला, रीठा और शिकाकाई :- आंवला, रीठा और शिकाकाई तीनों जड़ी बूटियां हैं जो बालों की विभिन्न समस्याओं का इलाज करने में सहायता करती हैं। आमला, रीठा और शिककाई पाउडर बालों का झड़ना या रोकने में मदद करता है।
  6. अंडा :- अंडा में जो प्रोटीन और विटामिन होते हैं वे बालों के हर तरह के समस्या के लिए फायदेमंद साबित होते हैं जैसे  बालों का झड़ना या डैंड्रफ से छुटकारा दिलाना । अंडा में  सल्फर, प्रोटीन, फॉस्फोरस, आयरन, मिनरल और जिन्क का स्रोत होता है जो की हमारे बालो के लिए फायदेमंद  है।
  7. प्याज, शहद और नींबू का रस :- प्‍याज का रस और शहद मिला कर बालों की जड़ों में लगाएं। फिर इसे 2 घंटे बाद नींबू और पानी मिला कर बालों को धो लें। इससे बालों में शाइन आएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *