लिवर (Liver) रोग के लक्षण और बचाव के टिप्स (Learn Liver disease symptoms and its protection.)

अत्यधिक थकान होना, त्वचा का रूखा होना और आंखों के आसपास काले घेरे हो जाना कभी-कभी लिवर की खराबी का नतीजा भी होता है।

लिवर (Liver) को स्वस्थ रखने के टिप्स  (Tips How to Keep Liver Healthy in Hindi.)

Liver को हिंदी में जिगर कहते हैं। यह हमारे शरीर की सबसे महत्वपूर्ण ग्रंथी होती है और यह शरीर के कई कामों को नियंत्रित करता है। यदि इसमें कोई खराबी आ जाये तो हमारे शरीर की काम करने की क्षमता न के बराबर हो जाती है।
यदि liver damage का सही समय पर इलाज न कराया जाये तो यह काफी गंभीर समस्या का रूप ले सकता है। Liver ख़राब होने का सबसे बड़ा कारन होता है हमारी गलत आदतें जैसे धुम्रपान, शराब, अधिक खट्टा और नमक का सेवन।

आपका लीवर सही है या नहीं (Whether your lever is right or not in Hindi.)

आपको लिवर संबंधी कोई समस्या तो नहीं है, यह जानने के लिए आपको शरीर की प्रतिक्रियाओं पर विशेष तौर पर नजर रखना होगा और उनमें होने वाले बदलाव एवं लक्षणों को गंभीरता से लेना होगा।

कई बार हम सुनते और देखते हैं कि कुछ लोगों को लिवर में सूजन आ जाती है, जिससे पेट का आकार बढ़ जाता है। ऐसे में इसे मोटापा समझने की गलती करना आपको परेशानी में डाल सकता है। अगर आपको उस स्थान पर समय-समय पर दर्द हो रहा हो, तो डाॅक्टर से जरूर दिखाएं।

अगर भूख न लगने की समस्या या फिर पेट में गैस बनना व बदहजमी जैसी समस्याएं लगातार हो रही हैं, तो इसे भी लिवर की खराबी का एक लक्षण माना जाता है। इसके साथ ही चेस्ट में जलन और भारीपन भी होता है।

फीवर न होने पर भी मुंह का स्वाद खराब हो जाना और लगातार कड़वापन बना रहना, यह भी लीवर की खराबी के कारण हो सकता है। यही नहीं लिवर की खराबी होने पर अमोनिया की अधिकता के कारण मुंह से बदबू आना भी शुरू हो जाता है।

लिवर (Liver) को ख़राब करने वाले महत्वपूर्ण लक्षण

  • गन्दा पानी पीना, दूषित मांस का सेवन, अधिक चटपटे और मसालेदार खाने का सेवन करना।
  • पीने के पानी में chlorine की मात्रा अधिक होना।
  • Vitamin B की कमी।
  • Antibiotic दवायों का अधिक सेवन करना।
  • घर में साफ़-सफाई न रखना।
  • मलेरिया, डेंगू और टाइफाइड के कारन भी liver ख़राब होता है।
  • रंग लगी मिठाइयों का अधिक सेवन करना।
  • Beauty products का अधिक इस्तेमाल करना।
  • काफी, चाय, junk food, तेलिय पदार्थों का अधिक सेवन करना।

कैसे करें लिवर का बचाव (How protect Liver disease in Hindi.)

लिवर (Liver) का बचाव करने के लिए आपको बस इन आसान कामों को करना है और पूरे नियम से करना है. क्योंकि लिवर शरीर का महत्वपूर्ण हिस्सा है इसलिए आपको अपने जीवनशैली में थोड़ा सा परिवर्तन लाना होगा. ताकि आप लिवर की बीमारी से बच सकें.

जब भी आप सुबह उठें तो 3 से 4 गिलास पानी का सेवन जरूर करें. उसके बाद आप पार्क में टहलें. दिन में हो सके तो 2 से 3 बार नींबू पानी का सेवन करें. लिवर को स्वस्थ रखने के लिए शारीरिक काम भी करते रहें. कभी भी भोजन करते समय पानी का सेवन न करें और खाने के 1 घंटे बाद ही पानी का सेवन करें. चाय, काफी आदि से दूर रहें. किसी भी तरह के नशीली चीजों का सेवन न करें. तले हुए खाने से दूर ही रहें. साथ ही जंक फूड, पैकेज्ड खाने का सेवन न करें.

अनुलोम विलोम प्राणायाम, भस्त्रिका प्राणायाम को प्रातः जरूर करें. इन सभी बातों को ध्यान में यदि आप रखेगें तो आप लिवर की बीमारी से बचे रहेगें.

लीवर से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने के लिए सेब के सिरके का इस्तेमाल करें. खाना खाने से पहले सेब का सिरका पीने से चर्बी कम होती है. एक चम्मच सेब का सिरका एक गिलास पानी में मिलाएं और इसमें एक चम्मच शहद भी मिलाएं. इस मिश्रण को दिन में दो या तीन बार तक पींए.
आंवला भी लिवर की बीमारी को ठीक करता है. इसलिए लिवर को स्वस्थ रखने के लिए दिन में 4 से 5 कच्चे आंवले खाने चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *