Welcome to swyamupchar.in

पीलिया(Jaundice)


पीलिया क्या हैं और कैसे होता हैं:-

रक्त में बिलीरूबीन के बढ़ जाने से त्वचा, नाखून और आंखों का सफेद भाग पीला नजर आने लगता है, इस स्थिति को पीलिया या जॉन्डिस कहते हैं या अगर शरीर पीला पड़ रहा है तो ये पीलिया का लक्षण हो सकता है। जब शरीर में रेड ब्लड सेल्स(RBC) एक तय अंतराल, यानी 120 दिन में टूटते हैं तो बिलिरुबिन नाम का एक बाई-प्रॉडक्ट बनता है। ये पदार्थ पहले, लीवर में जाता है और फिर धीरे-धीरे मल-मूत्र के साथ शरीर से निकल जाता है। लेकिन, अगर किसी कारण से रेड ब्लड सेल्स 120 दिनों से पहले टूट जाते हैं तो लीवर में बिलिरुबिन की मात्रा बढ़ जाती है। इसी से पीलिया होता है।इसी के चलते हमारी त्वचा पीली नजर आने लगती है। लिवर पर जब इन्फेक्शन होता हैं और लिवर अच्छे से काम नहीं करता हैं तो उस कंडीशन में भी पीलिया हो सकती हैं। ये लिवर से संबंधित  रोग है और इसका सही समय पर इलाज नहीं होने पर रोगी की जान तक जा सकती है। जब पीलिया होती हैं तो पेशाब भी पीला होता हैं और मल वाइट होता हैं ।

पीलिया के लक्षण(Symptom of Jaundice):-

  1. जब किसी इंसान को बार-बार यूरिन से पीले रंग का पेशाब हो तो उसको पीलिया हो गयी हैं ।
  2. इसमें तेज बुखार होना, पेट दर्द, भूख न लगना और खाना न हजम होना जैसे लक्षण भी दिखाई देते हैं।
  3. त्वचा का पीला होना, आंखों का पीला होना यह पीलिया का सबसे बड़ा लक्षण हैं।
  4. एल्कोहल से संबधी लिवर की बीमारी भी पीलिया में ही आता हैं।

पीलिया होने पर क्या क्या खाये:-

  1. पीलिया के मरीज को हमेशा हरी सब्जी खिलाना चाहिए जैसे करेला , लौकी इत्यादि।
  2. हमेशा ताजे फलों का जूस पीना चाहिये जैसे गन्ने का जूस, मौशमी या संतरा का जूस।
  3. नींबू, नारियल पानी, छाछ, लस्सी या ठन्डे चीजों का सेवन करे।
  4. पीलिया के मरीज को हमेशा उबले हुये खाना खाने चाहिए ।
  5. मूली की पत्तियों को पीसकर, उसका रस निकालें। लगभग आधा लीटर मूली की पत्तियों का रस रोजाना पीएं।

पीलिया होने पर क्या क्या नहीं खाये:-

  1. चाय और कॉफी का सेवन नहीं करना चाहिए ।
  2. पीलिया के रोगियों को मैदा, मिठाइयां, तले हुए पदार्थ, अधिक मिर्च मसाले, उड़द की दाल, खोया, मिठाइयां नहीं खाना चाहिए। इसलिए पीलिया में इनसे दूर रहना चाहिए क्‍योंकि पीलिया की समस्‍या लिवर में गड़बड़ी के कारण होती है।
  3. मीट, मछली के सेवन से दूर रहें यह गरम पदार्थ हैं इसका सीदा असर लिवर पर होता हैं क्योंकि पीलिया होने पर लिवर कमजोर हो जाता हैं इसलिए यह सब चीज़ से दूर रहना चाहिए ।
  4. जो लोग शराब और धूम्रपान का सेवन करते हैं अगर उनको पीलिया हो जाती हैं । उनको इन सब चीज़ो से दूर रहना चाहिए क्यूंकि इसका सीधा असर लीवर पर ही पड़ता हैं । ऐसे भी शराब और धूम्रपान शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक हैं ।

पीलिया होने पर घरेलू इलाज:-

 

  1. गिलोय एक रामबाण इलाज हैं पीलिया रोगी के लिए इसके सेवन से बहुत जल्दी से पीलिया से छुटकारा मिल जाता हैं।
  2. पीलिया होने पर एक गिलास टमाटर के रस में एक चुटकी नमक और काली मिर्च मिलाकर सुबह खाली पेट पीएं।
  3. तुलसी काफी कारगर अमृत होती है पीलिया के लिए इसको गाजर के रस में मिला के इसके रस को रोजाना दो से तीन हफ्तों तक पीएं। इससे पीलिया रोगी को राहत मिलती हैं।
  4. पीलिया के मरीज को रोजाना गीले चावल में मूली के साथ खाना चाहिए।
  5. मूली और पपीते के पत्ते को खाने से पीलिया बहुत जल्दी दूर होता हैं ।
  6. पीलिया होने रोज गन्ने का जूस पीना चाहिए ।

“पीलिया के बाद अगर सर्दी हो जाये तो यह बहुत अच्छा हैं क्यूंकि सर्दी होने से पीलिया ख़तम हो जाती हैं।”

 

 

Loading...

Have any Question or Comment?

Leave a Reply

Subscribe to Blog via Email

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

Join 613 other subscribers

%d bloggers like this: