बुख़ार (Fever)

हर व्यक्ति चाहता है कि वो बिल्कुल स्वस्थ रहे चाहे महिला हो या पुरुष । पर कभी न कभी वो बीमार जरूर पड़ता हैं । यही सब बीमारी में एक बुखार(Fever) आता हैं । बुखार से हर व्यक्ति अपनी लाइफ में कभी ना कभी गुज़रता जरूर है।

बुखार क्या हैं और कैसे होता हैं :-

हमारे शरीर का सामान्य तापमान  98.6 डिग्री F (37 डिग्री C) होता हैं । जब शरीर का तापमान सामान्य अवस्था से अधिक होता तो उस अवस्था को हमलोग बुखार कहते हैं। बुखार आना इस बात का संकेत  देता हैं हमारा शरीर किसी बाहरी संक्रमण में आगया हैं जैसे सर्दी-खांसी, फ्लू इत्यादि ।  कुछ लोगों को मौसम के बदलते ही बुखार आ जाते हैं । बुखार में सिरदर्द होना, ठंड लगना, जोड़ों में दर्द, भूख में कमी, कब्‍ज होना या भूख कम होना एवं थकान होना प्रमुख लक्षण हैं । जब आप बुखार से पीड़ित होते हैं, तो यह जरूरी होता हैं की आप पर्याप्त मात्रा में  भोजन ले । भोजन इतना सादा होना चाहिए कि आपकी पाचन शक्ति इस भोजन को हज़म करने में कोई मुश्किल ना आये । इसके अलावा बहुत सारा स्‍वच्‍छ एवं उबला हुआ पानी पिलाएं ।

बुखार को कभी भी हल्के में नहीं लेना चाहिए कभी-कभी यही बुखार किसी बड़े बीमारी का संकेत देती हैं जैसे वायरल फीवर, टायफॉयड,मलेरिया,डेंगू,खसरा,पीलिया(jaundice) ,टी.बी,न्‍युमोनिया इत्यादि ।  बुखार अगर जल्दी से ठीक नहीं हो रहा हैं और बार बार बुखार आ रहा है तो हमें तुरत डॉक्टर से परमार्श कर लेना चाहिए । उस समय डॉक्टर हमें जैसा कहते हैं वैसा ही करना चाहिए ।

 

बुखार होने पर घरेलू इलाज या उपाय :-

  1. तुलसी बुखार को कम करने में काफी कारगर हर्ब होती है। यह शरीर में एंटीबायोटिक की तरह काम करती है और बुखार को जल्दी कम करने में काफी मदद करती है।
  2. एक साफ कपड़े को पहले ठन्डे पानी में भिगोयें और फिर निचोड़ कर अपने शरीर के अत्यधिक गर्म स्थलों जैसे माथा, पैर के तलवे, कांख, पेट आदि पर रखें। ऐसा बार-बार करने पर बुखार में कमी आयेगी।
  3. एक गिलास गर्म दूध में आधा चम्मच हल्दी और एक चौथाई चम्मच काली मिर्च का पाउडर डालकरदिन में दो बार पीये। ऐसा करने से बुखार में कमी आयेगी।
  4. अगर गर्मी में लू लगाने से बुख़ार आ गया हैं तो कच्चे आम को पका ले और इसके रस को निकाल कर पीने से बुख़ार बहुत तेजी से कम होता हैं।
  5. सर्दी और जुकाम के कारण से अगर बुख़ार आता हैं तो शहद, हल्दी, मिश्री ,तुलसी ,मुलेटी को गरम पानी में मिलाकर पीने से बुख़ार में बहुत ज्यादा आराम मिलता हैं ।
  6. किशमिश हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद हैं । किशमिश में एंटी बैक्टीरियल और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती है जो की बुख़ार को कम करने में मदद करती हैं ।
  7. एक कच्चे लहसुन को एक कप पानी में मिलाकर उबाल लेवें फिर उसे छानकर धीरे-धीरे पियें | यह बुखार दुबारा होने से बचाता है और बुखार के लक्षणों से भी आराम दिलाता है |
  8. अदरक शरीर की गर्मी को बाहर निकालने में मदद करता है जिससे बुखार को कम करने में मदद मिलती है। साथ ही, अदरक एक प्राकृतिक एंटीवायरल और एंटीबैक्टीरियल एजेंट होता है जो इम्यून सिस्टम (Immune system)को किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करता है।

                        जो अच्छे स्वास्थ्य का आनंद लेता हैं वही जीवन का सबसे बड़ा धनी होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *